Blog

अनुवाद के प्रकार PGDT और JHT Exams के लिए

एक भाषा पाठ से दूसरी भाषा पाठ में अंतरित किया जाना ही अनुवाद कहलाता है. अनुवाद निम्नलिखित प्रकार के हो सकते है-

  • अन्तःभाषिक अनुवाद
  • अंतरभाषिक अनुवाद और
  • अंतर प्रतीकात्मत अनुवाद

अन्तःभाषिक अनुवाद एक ही भाषा में घटित होने वाली प्रक्रिया है. जैसे-

Hindi अन्तःभाषिक अनुवाद
वह झंझट पैदा कर रहा है Wah jhanjhat paida kar raha hai
उनसे मिले हुए कई दिन हो गए है unse mile hue kayi din ho gaye hai

अंतरभाषिक अनुवाद दो भिन्न-भिन्न प्रतिक व्यवस्थाओं के बीच घटित होता है. जैसे-

Hindi अंतरभाषिक अनुवाद
वह झंझट पैदा कर रहा है He is stirring up troubles
उनसे मिले हुए कई दिन हो गए है Many days have passed since I met him

जब कोई कहानी या नाटक को चलचित्र में रूपांतरण किया जाता है तो उसे अंतर प्रतीकात्मक अनुवाद कहते है. जैसे-

प्रेमचंद का उपन्यास ‘गोदान’ का फ़िल्मी रूपांतरण ‘गबन’ के रूप में हुआ. यह कहा जाता है कि ‘Five Point Someone’ जो चेतन भगत के द्वारा लिखित उपन्यास है का फ़िल्मी रूपांतरण ‘Three Idiots’ के रूप में हुआ है. यदि ऐसा है तो इस उपन्यास का अंतर प्रतीकात्मक अनुवाद हुआ है.