Blog

घर बैठे हिंदी अनुवाद सीखें

किसी भाषा में कही गयी बात को दूसरी भाषा में व्यक्त करना ही अनुवाद कहलाता है. अनुवाद पूर्णतः व्यावहारिक है जिसे अपने अनुभव और ज्ञान से लक्ष्य तक पहुँचाया जाता है. एक अनुवादक को श्रोत भाषा और लक्ष्य भाषा दोनों कि बराबर का ज्ञान होना चाहिए. एक भाषा में किसी भाव को कई तरह से व्यक्त कर सकते है. निम्न उदहारण को देखें-

  • वह मृत्यु को प्राप्त किया है
  • उसका स्वर्गवास हो गया है
  • वह मर गया है
  • वह टपक गया है
  • उसके प्राण पखेड़ू उड़ गए है
  • उसने अपने प्राण त्याग दिए है
  • उसने गंगा लाभ प्राप्त किया है
  • उसे मोक्ष की प्राप्ति हुई है
  • वह भगवान् को प्यारा हो गया है
  • भगवान् उसे अपने पास बुला लिए है

उपर्युक्त सभी का सामान्य अर्थ हुआ कि वह दुनिया में नहीं है. ये सभी हालाँकि उसके मरने के अलग-अलग भाव दे रहे है. इन सबका शाब्दिक अनुवाद एक भूल हो सकती है. अंग्रेजी में भी इस भाव को निम्न रूप से व्यक्त कर सकते है-

  • He has died.
  • He has passed away.
  • He has given up his ghost.
  • He is no more.
  • He is gone.
  • He has kicked the bucket.