Blog

SSC JHT and Rajbhasha Adhikari Syllabus, Eligibility and difference

SSC JHT 2020 FAQs

SSC JHT किस तरह की परीक्षा है?

कर्मचारी चयन आयोग भारत सरकार में विभिन्न मंत्रालयों / विभागों / संगठनों के लिए जूनियर हिंदी अनुवादक, वरिष्ठ हिंदी अनुवादक की भर्ती के लिए एक खुली प्रतियोगी परीक्षा है।

SSC JHT परीक्षा में अंतिम रूप से चयनित होने के बाद नौकरी किन सरकारी विभागों में मिलती है?

  1. केंद्रीय सचिवालय राजभाषा सेवा में जूनियर अनुवादक (CSOLS)
  2. एम / ओ रेलवे (रेलवे बोर्ड) में जूनियर अनुवादक
  3. सशस्त्र बल मुख्यालय में जूनियर अनुवादक (AFHQ)
  4. जूनियर ट्रांसलेटर (JT) / अधीनस्थ कार्यालयों में जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर (JHT) जिन्होंने JT / JHT के लिए DoP & T के मॉडल RRs को अपनाया है
  5. विभिन्न केंद्र सरकार के मंत्रालयों / विभागों / कार्यालयों में वरिष्ठ हिंदी अनुवादक

Q. अगर कोई विद्यार्थी एक ही सत्र में PGDT और M.A. दो अलग-अलग विश्वविद्यालयों से किया है तो क्या वह SSC JHT परीक्षा के लिए योग्य हैं?

A. हाँ! वह योग्य है क्योंकि उसका M.A. Regular और PGDT डिस्टेंस लर्निंग से है. दोनों का एक ही Session रहने पर भी मान्य है

Q क्या Appearing Candidate परीक्षा के लिए योग्य है?

A. नहीं! क्योंकि online आवेदन करते समय किये गए सारे कोर्सेस का व्योरा भरना पड़ता है.

क्या PG (अंग्रेजी या हिंदी) के साथ-साथ PGDT या अनुवाद में Certificate Course भी आवश्यक है?

हाँ

औसतन कितनी रिक्तियां आती है?

औसतन 300 से 500 के बीच

क्या इसमें साक्षात्कार (Interview) भी है?

नहीं

क्या परीक्षा प्रत्येक वर्ष होती है?

हां! हर वर्ष होती है.

किस Mode में परीक्षा ली जाती है?

Online और Offline (संभावित प्रारूप आगामी वर्ष से – Paperless)

क्या गलत उत्तर के लिए Negative अंक का प्रावधान है?

हाँ. हर गलत उत्तर के लिए 0.25 अंक काट लिए जाते है.

हर वर्ष लगभग कितने परीक्षार्थी परीक्षा में बैठते है?

2019 में कुल 12,359 परीक्षार्थी सम्मिलित हुए थे.

परीक्षा में कितने Papers होते है?

A दो Papers. Paper – I (Objective) और Paper – II (Descriptive/Conventional)

परीक्षार्थी कैसे चयनित होते है?

Paper-I और Paper-II दोनों में Score के हिसाब से. अंतिम चरण में दस्तावेज जांच (Document Verification) होती है.

General SC, ST उम्मीदवारों के लिए Paper-I Paper-II Cut-off क्या रहती है?

CategoryPaper-IPaper-IITotal
UROBCSCST150-160125-135120-130110-120145-155130-140130-140125-140305-320290-310265-280260-280

क्या अंकों का Normalization होता है?

हाँ

Paper-I और Paper-II दोनों के लिए कितने अंक की परीक्षा कितने समय के लिए होती है?

Paper-I के लिए 200 अंक और 2 घंटा का समय और Paper-II के लिए 200 अंक दो घंटा समय निर्धारित रहती है. अर्थात दोनों Papers के लिए 400 अंक निर्धारित होते है.

Paper-II में क्या रहता है?

Paper-II में 4 खंड होते हैं:-

  1. हिंदी से अंग्रेजी अनुवाद
  2. अंग्रेजी से हिंदी अनुवाद
  3. हिंदी निबंध
  4. अंग्रेजी निबंध

किस तरह से तैयारी करनी चाहिए?

एक बुद्धिमान परीक्षार्थी दोनों ही Papers के लिए समान रूप से तैयारी करते हैं. किन्तु दोनों की तैयारियां भिन्न है. एक वस्तुनिष्ठ आधारित तैयारी और दूसरा विवरणात्मक तैयारी. एक Online और दूसरा Offline. अतः दोनों के लिए अपने रोज के क्रियाकलापों में जगह दें.

हमारी इस online Platform पर दोनों ही Papers के लिए Courses उपलब्ध है जो काफी सटीक, रोचक और अनगिनत अभ्यासों से परिपूर्ण है.

इन परीक्षाओं के Online courses देखने के लिए यहाँ क्लिक करें